Wednesday, March 18, 2009

दोस्त का दुःख

दोस्त का दुःख। यहाँ पर एक मित्र के बारे में कुछ लिखना चाहता हूँ। मित्र ऐसा की अभी मीटिंग के लिए कॉल आ गयी है। फ़िर पूरा करूंगा इस लेख को.

2 comments:

india said...

when will you complete your blog,
we are waiting...... :)

Ek ziddi dhun said...

kewal tewari to hain hi dosto ke GAMGUSAAR